प्यार भरी शायरी दिल से

प्यार भरी शायरी दिल से
Like Tweet Pin it Share Share Email

शायरी आज कल Sociel Network पर बहुत ही ज्यादा Popular हैं, जिसे भी अपने प्यार का इंजहार करना रहता है वह शायरी का ही सहारा लेता हैं, आज कल तो शायरी ढूँढना भी काफी आसान सा हो गया हैं क्यों की हर कोई Intarnet तथा Sociel Network से जुड़ा हुआ हैं, जिसे भी अपने प्यार का इंजहार करना रहता है वह सीधें Google में या किसी और Search Engine या Sociel Network में Type करता हैं, Love Shayari In Hindi या फिर Shayari से Related any Keywords Search करते हैं.

इस लिए हम भी आप को कुछ हिन्दी – उर्दू शायरी से रूबरू कराते हैं उम्मीद है कि आप को पसंद आयेंगी  ( Love Shayari In Hindi ).

Love Shayari In Hindi

प्यार भरी शायरी

रख सको तो एक निशानी है हम;

भूल जाओ तो एक कहानी है हम;

ख़ुशी की धूप हो या गम के बादल;

दोनों में जो बरसे वो पानी है हम.

——–

तेरे प्यार का सिला हर हाल में देंगे;

खुदा भी मांगे ये दिल तो टाल देंगे;

अगर दिल ने कहा तुम बेवफ़ा हो;

तो इस दिल को भी सीने से निकाल देंगे।

——–

ज़िंदगी जीने के लिए मुझे दुआ चाहिए;

उस पर किस्मत की भी वफ़ा चाहिए;

खुदा के रहम से सब कुछ है मेरे पास;

बस प्यार करने के लिए आप जैसा कोई महबूब चाहिए।

——-

तेरी आवाज़ तेरे रूप की पहचान है;

तेरे दिल की धड़कन में दिल की जान है;

ना सुनूं जिस दिन तेरी बातें;

लगता है उस रोज़ ये जिस्म बेजान है।

——-

 इस दिल की हर धड़कन का एहसास हो तुम;

तुम क्या जानो हमारे लिए कितने ख़ास हो तुम;

जुदा होकर तुमने हमे मौत से भी बदतर सज़ा दी है;

फिर भी इस तड़पते हुए दिल ने तुम्हें खुश रहने की दुआ दी है।

——

बड़ी मुद्दत से चाहा है तुम्हें;

बड़ी दुआओं से पाया है तुम्हें;

तुम ने भुलाने का सोचा भी कैसे;

किस्मत की लकीरों से चुराया है तुम्हें।

——-

जो एक बार दिल में बस जाये उसे हम निकाल नहीं सकते;

जिसे दिल अपना बना ले उसे फिर कभी भुला नहीं सकते;

वो जहाँ भी रहे ऐ खुदा हमेशा खुश रहे;

उनके लिए कितना प्यार है हमें ये कभी हम जता नहीं सकते।

——-

ज़माने भर में आशिक कोई हमसा नही होगा;

खूबसूरत सनम भी कोई तुमसा नहीं होगा;

मर भी जाये उसकी बाहों में तो कोई गम नही यारो;

क्योंकी उसके आँचल से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होगा।

——–

 

मेरे दिल में एक धड़कन तेरी है…

उस धड़कन कि क़सम तू ज़िन्दगी मेरी है

मेरी एक साँस में एक साँस तेरी है …

वो साँस जो रूक जाये तो मौत मेरी है ..

——

गम ने हसने न दिया, ज़माने ने रोने न दिया!

इस उलझन ने चैन से जीने न दिया!

थक के जब सितारों से पनाह ली!

नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया!

——

तू ही मिल जाये मुझे ये ही काफ़ी है;

मेरी हर साँस ने बस यही दुआ माँगी है;

जाने क्यों दिल खींचा जाता है तेरी तरफ़;

क्या तुमने भी मुझे पाने की कोई दुआ माँगी है।

——-

 जो रहते हैं दिल में वो जुदा नहीं होते;

कुछ एहसास लफ़्ज़ों से बयां नहीं होते;

एक हसरत है कि उनको मनाये कभी;

एक वो हैं कि कभी खफा नहीं होते।

——-

ऐ आशिक तू सोच तेरा क्या होगा;

क्योंकि हशर की परवाह मैं नहीं करता;

फनाह होना तो रिवायत है तेरी;

इश्क़ नाम है मेरा मैं नहीं मरता।

——-

रात होगी तो चाँद दुहाई देगा;

ख्वाबों में आपको वह चेहरा दिखाई देगा;

ये मोहब्बत है ज़रा सोच कर करना;

एक आंसू भी गिरा तो सुनाई देगा।

——-

करिये तो कोशिश हमको याद करने की;

फुर्सत के लम्हे तो अपने आप मिल जायेंगे;

दिल में अगर है चाहत हमसे मिलने की;

बहाने मिलने के खुद-ब-खुद बन जायेंगे।

——-

माना कि किस्मत पे मेरा कोई ज़ोर नही;

पर ये सच है कि मोहब्बत मेरी कमज़ोर नही;

उस के दिल मे, उसकी यादो मे कोई और है लेकिन;

मेरी हर साँस में उसके सिवा कोई और नही।

——-

जब कोई ख्याल दिल से टकराता है;

दिल ना चाह कर भी, खामोश रह जाता है;

कोई सब कुछ कहकर, प्यार जताता है;

कोई कुछ ना कहकर भी, सब बोल जाता है।

——–

मेरी साँसों में बिखर जाओ तो अच्छा होगा;

बन के रूह मेरे जिस्म में उतर जाओ तो अच्छा होगा;

किसी रात तेरी गोद में सिर रख के सो जाऊं;

फिर उस रात की कभी सुबह ना हो तो अच्छा होगा।

——–

दुःख में ख़ुशी की वजह बनी है मोहब्बत;

दर्द में यादों की वजह बनी है मोहब्बत;

जब कुछ भी ना रहा था अच्छा इस दुनिया में;

तब हमारे जीने की वजह बनी है यह मोहब्बत।

——–

क्या मांगू खुदा से तुम्हें पाने के बाद;

किसका करूँ इंतज़ार तेरे आने के बाद;

क्यों इश्क़ में जान लुटा देते हैं लोग;

मैंने भी यह जाना तुमसे इश्क़ करने के बाद।

——–

कुछ उलझे हुए सवालों से डरता है दिल;

ना जाने क्यों तन्हाई में बिखरता है दिल;

किसी को पा लेना कोई बड़ी बात तो नहीं;

पर उनको खोने से डरता है यह दिल।

——–

आँखों में चाहत दिल में कशिश है;

फिर क्यों ना जाने मुलाकात में बंदिश है;

मोहब्बत है हम दोनों को एक-दूसरे से;

फिर भी दिलों में ना जाने यह रंजिश क्यों है।

——-

तेरा एहसान हम कभी चुका नहीं सकते;

तू अगर माँगे जान तो इंकार कर नहीं सकते;

माना कि ज़िंदगी लेती है इम्तिहान बहुत;

तू अगर हो हमारे साथ तो हम कभी हार नहीं सकते।

——–

लाख बंदिशें लगा दे यह दुनिया हम पर;

मगर दिल पर काबू हम कर नहीं पायेंगे;

वो लम्हा आखिरी होगा हमारी ज़िन्दगी का;

जिस पल हम तुझे इस दिल से भूल जायेंगे।

——–

इश्क मुहब्बत तो सब करते हैं!

गम – ऐ – जुदाई से सब डरते हैं

हम तो न इश्क करते हैं न मुहब्बत!

हम तो बस आपकी एक मुस्कुराहट पाने के लिए तरसते हैं!

——–

कोई अच्छा लगे तो उनसे प्यार मत करना;

उनके लिए अपनी नींदे बेकार मत करना;

दो दिन तो आएँगे खुशी से मिलने;

तीसरे दिन कहेंगे इंतज़ार मत करना!

प्यार वो है जिसमे सच्चाई हो;

साथी की हर बात का एहसास हो;

उसकी हर अदा पर नाज़ हो;

दूर रह कर भी पास होने का एहसास हो।

——-

मेरे दिल ने जब भी कभी कोई दुआ माँगी है;

हर दुआ में बस तेरी ही वफ़ा माँगी है;

जिस प्यार को देख कर जलते हैं यह दुनिया वाले;

तेरी मोहब्बत करने की बस वो एक अदा माँगी है।

——-

ख्याल में आता है जब भी उसका चेहरा;

तो लबों पे अक्सर फरियाद आती है;

भूल जाता हूँ सारे ग़म और सितम उसके;

जब ही उसकी थोड़ी सी मोहब्बत याद आती है।

——–

इत्तेफ़ाक़ से ही सही मगर मुलाकात हो गयी;

ढूंढ रहे थे हम जिन्हें आखिर उन से बात हो गयी;

देखते ही उन को जाने कहाँ खो गए हम;

बस यूँ समझो दोस्तो वहीं से हमारे प्यार की शुरुआत हो गयी।

———

तेरे बिना टूट कर बिखर जायेंगे;

तुम मिल गए तो गुलशन की तरह खिल जायेंगे;

तुम ना मिले तो जीते जी ही मर जायेंगे;

तुम्हें जो पा लिया तो मर कर भी जी जायेंगे।

———

ऐसा जगाया आपने कि अब तक ना सो सके;

यूँ रुलाया आपने कि महफ़िल में हम ना रो सके;

ना जाने क्या बात है आप में सनम;

माना है जबसे तुम्हें अपना किसी के ना हम हो सके।

——–

 

अगर मैं हद से गुज़र जाऊं तो मुझे माफ़ करना;

तेरे दिल में उतर जाऊं तो मुझे माफ़ करना;

रात में तुझे तेरे दीदार की खातिर;

अगर मैं सब कुछ भूल जाऊं तो मुझे माफ़ करना।

——–

फ़िज़ा में महकती शाम हो तुम;

प्यार में झलकता जाम हो तुम;

सीने में छुपाये फिरते हैं चाहत तुम्हारी;

तभी तो मेरी ज़िंदगी का दूसरा नाम हो तुम।

——–

तेरे हर ग़म को अपनी रूह में उतार लूँ;

ज़िंदगी अपनी तेरी चाहत में सवार लूँ;

मुलाक़ात हो तुझसे कुछ इस तरह मेरी;

सारी उम्र बस एक मुलाक़ात में गुज़ार लूँ।

——–

फूलों की याद आती है काँटों को छूने पर;

रिश्तों की समझ आती है फासलों पे रहने पर;

कुछ जज़्बात ऐसे भी होते हैं जो आँखों से बयां नहीं होते;

वो तो महसूस होते हैं ज़ुबान से कहने पर।

———

दुःख में ख़ुशी की वजह बनती है मोहब्बत;

दर्द में यादों की वजह बनती है मोहब्बत;

जब कुछ भी अच्छा ना लगे हमें दुनिया में;

तब हमारे जीने की वजह बनती है मोहब्बत।

———

मैं तेरे प्यार में इतना ग़ुम होने लगा हूँ;

जहाँ भी जाऊं बस तुम्हें ही सामने पाने लगा हूँ;

हालात यह हैं कि हर चेहरे में तू ही तू दिखता है;

ऐ मेरे खुदा अब तो मैं खुद को भी भुलाने लगा हूँ।

———

अपने घर की खिड़की से मैं आसमान को देखूँगा;

जिस पर तेरा नाम लिखा है उस तारे को ढूँढूँगा;

तुम भी हर शब दिया जला कर पलकों की दहलीज़ पर रखना;

मैं भी रोज़ एक ख़्वाब तुम्हारे शहर की जानिब भेजूँगा।

———

कुछ सोचूं तो तेरा ख्याल आ जाता है;

कुछ बोलूं तो तेरा नाम आ जाता है;

कब तलक बयाँ करूँ दिल की बात;

हर सांस में अब तेरा एहसास आ जाता है।

——–

 

तुम को तो जान से प्यारा बना लिया;

दिल को सुकून आँख का तारा का बना लिया;

अब तुम साथ दो या ना दो तुम्हारी मर्ज़ी;

हम ने तो तुम्हें ज़िन्दगी का सहारा बना लिया।

———

सीने में दिल तो हर एक के होता है;

लेकिन हर एक दिल में प्यार नहीं होता;

प्यार करने के लिए तो दिल होता है;

दिल में छुपाने के लिए प्यार नहीं होता।

———

दूरियों की ना परवाह कीजिये;

दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये;

कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे;

बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिये।

———

कैसे कहूँ कि अपना बना लो मुझे;

बाहों में अपनी समा लो मुझे;

बिन तुम्हारे एक पल भी कटता नहीं;

आ कर एक बार मुझ से चुरा लो मुझे।

——–

कब तक वो मेरा होने से इंकार करेगा;

खुद टूट कर वो एक दिन मुझसे प्यार करेगा;

इश्क़ की आग में उसको इतना जला देंगे;

कि इज़हार वो मुझसे सर-ए-बाजार करेगा।

———

मुझे भी अब नींद की तलब नहीं रही;

अब रातों को जागना अच्छा लगता है;

मुझे नहीं मालूम वो मेरी किस्मत में है या नहीं;

मगर उसे खुदा से माँगना अच्छा लगता है।

——–

इश्क़ में हर लम्हा ख़ुशी का एहसास बन जाता है;

दीदार-ए-यार भी खुदा का दीदार बन जाता है;

जब होता है नशा मोहब्बत का;

तो अक्सर आईना भी ख्वाब बन जाता है।

———-

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *