जैसे को तैसा मिला एक प्रेरणादायक कहानी

जैसे को तैसा मिला एक प्रेरणादायक कहानी
Like Tweet Pin it Share Share Email

जैसे को तैसा मिला

एक हाथी था, वह एक गांव में रहता था, उसके मालिक का नौकर उसे सुबह – सुबह जंगल में ले जाता था नौकर एक पेड़ के नीचें बैठ जाता था| हाथी दिन भर अपना पेट भरता रहता था, वह अपनी सूंड़ से पेड़ों की टहनियां तोड़ – तोड़कर खाता रहता, कभी – कभी तो वह पूरा पेड़ ही उखाड़ फेंकता था, दिन भर के खानें पर भी हाथी का पेट नहीं भरता था, शाम को दोनों घर वापस लौट आते थें

हाथी जिस रास्ते से गुजरता था उस रास्तें में एक दर्जी की दुकान था उस दर्जी को हाथी बहुत पसंद था  वह हाथी के पास जाना चाहता था  पर दर्जी मन ही मन सोचता रहता था की ‘मेरा भी एक हाथी होता तो कितना अच्छा होता यह हाथी मुझें अपनें सूंड़ से उठाकर अपनी पीठ पर मुझें बिठा ले तो कितना अच्छा होता …. हाथी तो वह खरीद नहीं सकता, हाथी उसका दोस्त बन जाए तो बहुत अच्छा होता’

अगली सुबह हाथी उसी की दुकान के पास आया  दर्जी ने हाथ आगे बड़ाया, उसके हाथ में एक रोटी थीं  हाथी ने अपनी सूंड़ आगे बढाई, सूंड़ में रोटी पकड़ी और और अपने मुंह में डाल ली  दर्जी को बहुत अच्छा लगा  वह रोंज हाथी को एक रोटी देता हाथी रोंज उसकी दुकान पर आता और अपनी सूंड़ उसकी दुकान की ओर बढाता और रोटी लेते हुए चला जाता  हाथी उसका दोस्त बन गया

एक दिन दर्जी बीमार पड़ गया  उसकी जगह दुकान पर उसका बेटा बैठा हुआ था  रोज की तरह हाथी आया, उसनें अपनी सूंड़ दुकान की ओर बड़ाई दर्जी का लड़का डर गया  उसके हाथ में सुई थीं  उसनें हाथी की सूंड़ में सुई चुभो दी  हाथी चिंघाड़ा उसने अपनी सूंड़ पीछें हटा ली  हाथी आगे बढ़ गया  शाम को हाथी लौटा  वह दुकान के सामने रुका  दर्जी का लड़का हाथी को देख रहा था  उसने हाथी को देख कर सुई उठा ली  हाथी ने अपनी सूंड़ दुकान की ओर बढाई  दर्जी का लड़का भी तैयार था  उसने सुई आगे बढाई हाथी नहीं डरा  दर्जी के लड़के ने सुई और आगे बढाई  हाथी ने सुई चुभोने से पहले ही सूंड़ में भरा कीचड़ पूरी दुकान में बिखेर दिया | दर्जी की दुकान में टंगे कपड़े कीचड़ में सन गए

दर्जी को पता चला  वह दुकान पर आया  उसने दुकान में कीचड़ देखा  उसे बड़ा दुःख हुआ  उसने अपने बेटे से कहा – ‘ जानवरों से तुम प्यार करोगे, तो जानवर भी तुमसे प्रेम करेंगें.

—————

इन कहानियों को भी पढ़ें :

Comments (1)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *